Jharkhand Mukhyamantri Krishi Aashirwad Yojana || झारखण्ड मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना

Spread the love

Jharkhand Mukhyamantri Krishi Aashirwad Yojana  झारखण्ड मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना

Jharkhand Mukhyamantri Krishi Aashirwad Yojana , झारखण्ड मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना, मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना 2019, झारखण्ड मुख्मंत्री कृषि आशीर्वाद योजना 2019, किसानों के लिए झारखण्ड सरकार द्वारा चलायी जा रही योजना, 1 जनवरी 2019 से चलायी जा रही योजना, मुख्यमंत्री रघुबर दास द्वारा किसानों के लिए शुरू की गयी योजना, Jharkhand Mukhyamantri Krishi Aashirwad Yojana 2019, Jharkhand Mukhyamantri Krishi Aashirwad Yojana eligibility, Jharkhand Mukhyamantri Krishi Aashirwad Yojana imporant document, important document required for Jharkhand Mukhyamantri Krishi Aashirwad Yojana, important document required for mukhymantri kirishi aashirwad yojna,  झारखण्ड मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना की मुख्य बाते, झारखण्ड मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना में आवेदन करने के लिए जरुरी दस्तावेज़

Jharkhand Mukhyamantri Krishi Aashirwad Yojana

Jharkhand Mukhyamantri Krishi Aashirwad Yojana  झारखण्ड मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना

झारखण्ड सरकार ने 1 जनवरी 2019 से राज्य के किसानों के लिए मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना शुरू की। । इस योजना के तहत, किसानों को खरीफ फसल के लिए पांच हजार रुपये (5000) प्रति एकड़ दिए जायेंगे। इस मुख्यमंत्री कृषि आशिर्वाद योजना (Mukhyamantri Krishi Aashirwad Yojana) से राज्य के लगभग 22 लाख 76 हजार लघु और सीमांत किसानों को लाभ पहुँचने की उम्मीद है  झारखण्ड में किसानों के लिए इन्वेस्टमेंट सपोर्ट स्कीम लागु करना की तैयारी भी हो रही है। जिसके अंतर्गत खेती किसानों को आर्थिक सहायता दी जाएगी।

झारखण्ड मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना को सफलतापूर्वक क्रियान्वयित करने के लिए, सरकार को 2,250 करोड़ रुपये खर्च करने होंगे | इस योजना का मुख्य उद्देश्य कृषि उत्पादन में बृद्धि करना, कृषि संकट को खत्म करना और किसानों को संकट से उबारना है |

इस योजना का लाभ केवल वे छोटे और सीमांत किसान उठा सकते हैं जिनकी कुल भूमि 5 एकड़ से कम है | इस योजना के माध्यम से प्रधान मंत्री मोदी 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने के सपने को साकार करेंगे |

Jharkhand Mukhyamantri Krishi Aashirwad Yojana 1

झारखण्ड मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना की विशेषताएं
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य झारखण्ड राज्य में कृषि के उत्पादन को बढ़ाना। जिससे कृषि में होने वाली परेशानियों को दूर किया जा सके और संकट में डूबे किसानों की मदद हो सके।
  • इसके साथ ही राज्य सरकार किसानों की आर्थिक मदद भी करेगी। इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक किसान को प्रति एकड़ 5000 रुपये दिए जायेंगें। जिससे खरीफ की खेती में मदद हो सके।
  • जिन किसानों के पास 1 एकड़ से कम जमीन है, उन्हें भी इस योजना के तहत वित्तीय सहायता दी जाएगी। यह सहायता राशी सभी पात्र किसानों के बैंक में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रान्सफर (DBT) के द्वारा दी जाएगी।
  • मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना एक तरह की निवेश सहायता योजना है, जिसके अंतर्गत राज्य के लगभग 23 लाख पात्र किसानों की मदद की जाएगी।
  • इस कृषि योजना के लिए राज्य सरकार ने 2250 करोड़ का बजट पास किया है। यह योजना वित्तीय वर्ष 2019-20 को आधिकारिक रूप से लागु होगी। जिससे सभी पात्र किसानों को लाभ मिलेगा।

इसे भी पढ़े :- 

मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना झारखण्ड के लाभ 
  1. इस योजना के अंतर्गत झारखण्ड राज्य के लगभग 45 लाख एकड़ कृषि भूमि को कवर किया जायेगा।
  2. इसके साथ ही किसानों को बीज, खाद खरीदने या कृषि से जुड़े किसी भी निवेश के लिए किसी बैंक से लोन लेने पर निर्भर नहीं होना पड़ेगा।
  3. इस निवेश सहायता योजना के द्वारा झारखण्ड सरकार किसानों को आत्मनिर्भर बनाएगी। जिससे वे ऋण लेकर किसी पर निर्भर न रहें, बल्कि खुद आत्मनिर्भर बने।
  4. राज्य सरकार किसानों की आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए निरंतर काम कर रही है। इसके लिए सरकार किसानों को जीरो ब्याज दर पर कर्ज दे रही है, ताकि वे आसानी से ऋण का बोझ उठा सकें और समय पर इसे भर सकें।

Jharkhand Mukhyamantri Krishi Aashirwad Yojana

मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना के लिए पात्रता एवं आवश्यक दस्तावेज

मुख्यमंत्री कृषि आशिर्वाद योजना (Mukhyamantri Krishi Aashirwad Yojana) के तहत आवेदन करने के लिए आवेदक के पास निम्नलिखित योग्यता होनी चाहिए।

  • यह योजना सिर्फ झारखण्ड में रहने वाले किसानों के लिए ही है। दूसरे राज्य के किसान इसका लाभ नहीं उठा सकते।  
  • किसानों को आवेदन फॉर्म के साथ मूल निवासी पत्र (Domicile Certificate) की प्रति भी जमा करवानी होगी।
  • इस योजना का लाभ राज्य के केवल छोटे और सीमांत किसानों को ही मिलेगा।
  • झारखण्ड सरकार ने इस योजना के अंतर्गत उन किसानों को भी शामिल करेगी, जिनके पास 5 एकड़ या उनसे कम भूमि है। इसके लिए किसानों को अपनी भूमि के कागजात की कॉपी जमा करनी होगी।
  • इसके साथ ही पात्र किसानों के पास अपने आधार कार्ड से लिंक बैंक अकाउंट की पासबुक भी होनी चाहिए। राज्य सरकार डायरेक्ट बेनिफिट ट्रान्सफर (DBT) के द्वारा ही किसानों को लाभ देगी।

Leave a Reply